News Desk

News 08 march 2018

नगर पालिका में खूब खेली गई होली, मनाया गया होली मिलन समारोह


बालाघाटः- नगरपालिका परिषद बालाघाट द्वारा गुरूवार को कार्यालय प्रांगण में होली मिलन समारोह का आयोजन किया गया। इस अवसर पर नगरपालिका अध्यक्ष श्री अनिल धुवारे द्वारा उपस्थित अतिथियों को तिलक वंदन कर होली की शुभकामनायें दी गई। वहीं इस अवसर पर नगरपालिका के समस्त पार्षदगण एवं कर्मचारियों द्वारा आपस में एक दूसरे को चंदन का टीका लगाकर होली के पर्व की शुभकामनायें दी गई। साथ ही सभी ने फाग के गीतों पर खूब नृत्य भी किया।
ज्ञात हो कि नगरपालिका परिषद बालाघाट में प्रतिवर्षानुसार इस वर्ष भी होली मिलन समारोह का आयोजन किया गया। इस अवसर पर नगरपालिका अध्यक्ष श्री अनिल धुवारे के नेतृत्व में समस्त पार्षदगणों द्वारा होली मिलन समारोह में उपस्थित आंगतुकों का स्वागत किया गया। साथ सभी वरिष्ठ अतिथियों को चंदन का टीका लगाकर आशिर्वाद लिया गया। वहीं हमउम्र भाईयों ने आपस में गले लगकर एक-दूसरे को होली की बधाई दी। जहां एक ओर इस अवसर पर सभी पार्षदों एवं अधिकारी, कर्मचारियों के द्वारा फाग के गीत गाये गये। वहीं दूसरी ओर आकेष्ट्रा के कालाकारों द्वारा दी गई प्रस्तुतियों पर जमकर थिरके भी। कार्यालय प्रांगण में 03 बजे से आयोजित इस कार्यक्रम में सभी आंगतुकों एवं अधिकारी, कर्मचारियों हेतु स्वल्पाहार एवं ठंडाई की व्यवस्था भी की गई थी।
इस अवसर पर नगरपालिका के समस्त कर्मचारियों द्वारा अपने प्रिय नेता नगरपालिका अध्यक्ष श्री अनिल धुवारे को तिलक लगाकर होली की शुभकामनायें दी। साथ ही श्री धुवारे ने भी सभी का अभिवादन स्वीकार करते हुये तिलक लगाकर सभी को होली की बधाई दी।
 

महिलायें कर रही है हर क्षेत्र में उत्कृष्ट प्रदर्शनः- रेखा बिसेन
अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर नपा में आयोजित हुआ कार्यक्रम विभिन्न क्षेत्रों की दिग्गज महिलायें हुई कार्यक्रम में शामिल


बालाघाटः- महिलायें हर क्षेत्र में उत्कृष्ट प्रदर्षन कर रही हैं। वो जिस बखूबी से परिवार संभालती हैं उसी जिम्मदारी और सक्षमता के साथ वे घर से बाहर कार्यक्षेत्र में भी अपनी प्रतिभा का लोहा मनवा रही हैं। उक्ताषय के उद्गार जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती रेखा बिसेन ने कहे। श्रीमती बिसेन नगरपालिका द्वारा आयोजित अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस कार्यक्रम में बोल रही थीं। उन्होंने कहा कि महिलायें आज अपने आर्थिक, सामाजिक एवं व्यक्तिगत विकास के लिये किसी पर आश्रित नहीं है। श्रीमती बिसेन ने कहा कि परिवार के संचालन में मुख्य भूमिका निभाते हुये बच्चों में अच्छे संस्कारों के माध्यम से महिलाये एक बेहतर समाज के निर्माण का कार्य भी कर रही हैं। उन्होंने कहा कि आज समाजिक परिवेष बदल गया है। महिलायें पहले से अधिक सषक्त हो गई हैं।
ज्ञात हो कि नगरपालिका परिषद बालाघाट में 8 मार्च को अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर वृहद कार्यक्रम का आयोजन किया गया।  इस अवसर पर राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिषन के तहत नगर में गठित स्वयं सहायता समूहों की महिलाओं का महा सम्मेलन भी आयोजित किया गया। कार्यक्रम जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती रेखा बिसेन के मुख्य आतिथ्य में सम्मपन्न हुआ। वहीं कार्यक्रम की अध्यक्षता नगरपालिका अध्यक्ष श्री अनिल धुवारे नें किया। इस अवसर पर विषेष अतिथी के रूप में समाजसेवी एवं मानव अधिकार आयोग की जिला संयोजिका श्रीमती फिरोजा खान, प्रतिष्ठित महिला चिकित्सक डाॅ. श्रीमती अर्चना रोहित गुप्ता ब्रम्हकुमारी आश्रम की ब्रम्हकुमारी उषा बहनजी,, गायत्री परिवार की महिला प्रकोष्ठ की जिला संयोजिका श्रीमती अमिता चैधरी, नगरपालिका उपाध्यक्ष श्रीमती वीणा कनौजिया, पार्षद श्रीमती लक्ष्मी विनय जासवाल, श्रीमती नीतू अनिल कसार, श्रीमती अलका महेंद्र रामटेक्कर, श्रीमती क्षमा बंसोड़, श्रीमती गौरी राजेष लिल्हारे, श्रीमती अनिता कमलेष पांचे, श्रीमती नंदनी वर्मा, श्रीमती सरिता सोनेकर, श्रीमती फैहमिदा शेख साबिर, सहित मुख्य नगरपालिका अधिकारी श्री गजानन नाफड़े, सहायक यंत्री श्री सुरेंद्र राहंगडाले, उपयंत्री श्रमती अंषिका चैहान, सुश्री रूचिता साहू, सुश्री श्रुती शुक्ला, समग्र सुरक्षा विस्तार अधिकारी सुश्री दिव्या गनवीर, राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिषन के सिटी मनेजर श्री सत्यकाम मिश्रा, सिटी मेनेजर श्री चंदन प्रजापति, योजना विभाग प्रभारी श्री वाचस्पति त्रिपाठी, स्वास्थ्य विभाग प्रभारी श्री प्रदीप परांजपे, सहित नगरपालिका के समस्त कर्मचारीगण एवं अनेक गणमान्य नागरिक उपस्थित रहे। इस अवसर पर उपस्थित अतिथियों द्वारा निरजा टाइम्स द्वारा नगरपालिका विषेषांक का विमोचन भी किया गया। कार्यक्रम के अंत में सभी अतिथियों को स्मृति चिन्ह भेंटकर सम्मानित भी किया गया। साथ ही स्वयं सहायता समूहों के माध्यम से उत्कृष्ट कार्य करने वाली महिलाओं को सम्मानित भी किया गया।
इस अवसर पर डाॅ. अर्चना गुुप्ता ने समाज के विकास में महिलाओं की भागीदारी की बात कही। उन्होंने कहा कि महिलायें चाहें तो हमें किसी भी स्वच्छता अभियान की आवष्यकता नहीं होगी। हम हर बात के लिये क्यों सरकार पर आश्रित रहें। हमें स्वस्थ जीवन शैली अपनाने की आवष्यकता है। और इसके लिये हमें अपने आसपास के वातावरण को स्वच्छ रखना होगा। स्वच्छता महिलाओं की मुख्य आदत है और इसी आदत को हमें क्रांतीकारी स्वरूप देना होगा। वहीं गायत्री परिवार की महिला प्रकोष्ठ की जिला संयोजिका श्रीमती अमिता चैधरी ने धर्म के माध्यम से समाज के विकास एवं सामाजिक परिवर्तन की बात कही।
इस अवसर पर मानव अधिकार आयोग की जिला संयोजिका श्रीमती फिरोजा खान ने कहा कि महिलाओं के अधिकारों के संरक्षण के लिये शासन द्वारा अनेक कानून बनाये गये हैं। साथ ही आज की सरकारें महिलाओं के उत्थान के लिये अनवरत प्रयास कर रहीं हैं। उन्होंने कहा कि कानून तो बनेंगें लेकिन महिलाओं को उन कानूनों के ज्ञान एवं सामाजिक परिवेष में अपने अधिकारों की रक्षा के लिये स्वयं प्रयास करने होगें। उन्होंने कहा कि समाज में महिलाओं की स्थिति दिन-ब- दिन बेहतर हो रही है। इसमें कहीं न कहीं हमारी षिक्षा का स्तर और समाज के अंदर वैचारिक परिवर्तन की भी मुख्य भूमिका है। उन्होंने महिलाओं को शोषण के विरूद्ध कानूनी अधिकार, न्याय प्रणाली में महिलाओं के लिये किये गये प्रावधानों के बारे में विस्तृत जानकारी दी।
वहीं नगरपालिका उपाध्यक्ष श्रीमती वीणा कनौजिया ने कहा कि आज हर क्षेत्र में महिलायें अपनी प्रतिभा का लोहा मनवा रही हैं। अपनी प्रतिभा और उत्कृष्ट कार्यषैली के चलते आज महिलायें अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर देष का नाम रौषन कर रही हैं। उन्होंने कहा कि हर महिला के अंदर एक प्रतिभा होती है। उस प्रतिभा को समाज के कल्याण के लिये सामने लाने की आवष्यकता है।

 

Consumer Desk


Map