News Desk

News 26 March 2018

नपा द्वारा मुख्यमंत्री कन्यादान योजना के तहत सामूहिक विवाह 6 अप्रैल को


बालाघाटः- नगरपालिका परिषद बालाघाट द्वारा मुख्यमंत्री कन्यादान योजना के तहत सामूहिक विवाह का आयोजन आगामी 6 अप्रैल को किया जा रहा है। खर्चीली शादियों एवं दहेज जैसी कुप्रथा से बचने के उद्देष्य से मध्यप्रदेष शासन द्वारा प्रारंभ की गई इस योजना के तहत आर्थिक रूप से कमजोर माता-पिता अपनी पुत्री का विवाह पूरे सम्मान के साथ करवा सकते हैं। इस संबंध में जानकारी देते हुये नगर पालिका अध्यक्ष श्री अनिल धुवारे ने बताया कि प्रतिवर्षानुसार इस वर्ष भी सामाजिक समरसता एवं आपसी भाई चारे के मिसाल के रूप में मध्यप्रदेष शासन द्वारा प्रारंभ किये गये मुख्यमंत्री कन्यादान योजना के तहत एक ही छत के नीचे अनेक धर्म एवं समाज के वर-वधु दांपत्य बंधन में बंधेगें। ये विवाह पूर्ण रिती-रिवाज तथा मंत्रोच्चारण एवं विधि-विधान से सम्पन्न कराये जायेगें। उन्होंने बताया कि सामूहिक विवाह के दौरान अनेक धर्म के हितग्राहियों द्वारा आवेदन किया जाता है। जिसमें परिस्थिति अनुसार उनके धर्म-गुरूओं को आमंत्रित कर विवाह समारोह पूर्ण रिती रिवाज के साथ सम्पन्न कराया जाता है। इस अभिनव योजना के तहत जहां एक गरीब परिवार की बेटी का पूर्ण सम्मान के साथ विवाह सम्पन्न होता है वहीं शासन द्वारा बेटी की गृहस्थी प्रारंभ करने हेतु 5 हजार रूपये का गृहस्थी का सामान तथा 20 हजार रूपये आर्थिक सहायता के रूप में कन्या के बैंक खाते में जमा किये जाते हैं। शासन की इस दूरगामी सोच के चलते पिछले दस सालों में लाखों बेटियों का विवाह सम्पन्न किया जाकर आज वे एक खुषहाल जीवन व्यतीत कर रहे हैं। यह योजना उन लाखों परिवारों के लिये वरदान साबित हुई जिनके पास अपनी बेटियों के विवाह के लिये उचित धन की व्यवस्था नहीं हो पाती, साथ ही आर्थिक विषमता को दूर करने वाली इस योजना ने ऊंच नीच की खाई को पाटने का भी काम किया है। ज्ञात हो कि नगरपालिका परिषद बालाघाट एवं सहयोगी संस्था जय श्री रानी अवंती बाई सेवा समिति के संयुक्त तत्वाधान में 6 अप्रैल को आयोजित सामूहिक विवाह अंतर्गत पात्र हितग्राहियों का जहां एक ओर पूर्ण रीति रिवाज के साथ विवाह सम्पन्न कराया जायेगा, वहीं दूसरी ओर गृहस्थी आरंभ करने के लिये वधु को 5 हजार रूपये का गृहस्थी का सामान तथा 20 हजार रूपये सहायता राषि वधु के बैंक खातें में जमा किये जायेगें। योजना के तहत लाभ लेने हेतु आवेदकों को 4 पासपोर्ट साइज फोटो, समग्र आई.डी. मार्कषीट की फोटोकाॅपी, बैंक खाते की फोटो काॅपी, बी.पी.एल. राषनकार्ड की छायाप्रति, आधारकार्ड, वोटर आई.डी., ग्राम पंचायत का प्रमाण पत्र, परित्यगता या तलाकषुदा होने की स्थिति में न्यायालय का आदेष तथा विधवा होने की स्थिति में पूर्व पति का मृत्यु प्रमाण पत्र, दिव्यांग होने की स्थिति में दिव्यांग (40 प्रतिषत या अधिक) प्रमाण पत्र प्रस्तुत करना होगा। यहां स्पष्ट किया जाता है कि दिव्यांग हितग्राहियों को 50 हजार रूपये की अतिरिक्त सहायता राषि प्रदान की जाती है। साथ ही जिले के ग्रामीण अंचल से आवेदन करने वाले हितग्राहियों को जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी से जांच प्रतिवेदन के साथ आवेदन नगरपालिका में जमा करना होगा। अधिक जानकारी के लिये नगरपालिका परिषद बालाघाट के योजना विभाग से संपर्क किया जा सकता है।
 

Consumer Desk


Map