News Desk

News 29 August 2018


‘‘खेल दिवस’’ पर सम्मानित किये गये खिलाड़ी, नगरपालिका परिषद बालाघाट एवं नेहरू स्पोर्टिंग क्लब का संयुक्त आयोजन, पूर्व खिलाड़ी एवं प्रषिक्षकों को भी किया गया सम्मानित..............


बालाघाटः- नगरपालिका परिषद बालाघाट एवं नेहरू स्पोर्टिंग क्लब बालाघाट के संयुक्त तत्वाधान में 29 अगस्त को खेल दिवस के अवसर पर खेल की विभिन्न विधाओं में जिला स्तर, राज्य स्तर, राष्ट्रीय स्तर तथा अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर जिले एवं नगर का नाम रौषन करने वाले खिलाड़ियों एवं पूर्व खिलाड़ियों को सम्मानित किया गया। इस अवसर पर विभिन्न खेल संघों के पदाधिकारियों का भी सम्मान किया गया। इस अवसर पर जिला कराते संघ, जिला कबड्डी संघ, व्हाॅलीबाल संघ, जिला फुटबाॅल संघ, जिला बास्केटबाॅल संघ, जिला बाॅडी बिल्डिंग संघ, जिला बैडमिंटन संघ, जिला क्रिकेट संघ, जिला गिल्ली डंडा संघ, जिला तैराकी संघ, जिला लाॅन टेनिस संघ, जिला हाॅकी संघ सहित अनेक खेल संघ से जुड़ी राष्ट्रीय तथा अंतर्राष्ट्रीय खेल प्रतिभाओं का सम्मान किया गया। इस अवसर पर लगभग 1000 खिलाड़ियों को शाॅल श्रीफल तथा प्रषस्ति पत्र भेंटकर सम्मानित किया गया। इस अवसर पर श्री मनोज चक्रवर्ती द्वारा सफल मंच संचालन किया गया।
ज्ञात हो कि हाॅकी के महान जादूगर मेजर ध्यानचंद के जन्मदिवस 29 अगस्त को  देष में राष्ट्रीय खेल दिवस के रूप में मनाया जाता है। इस अवसर पर विविध आयोजन भी किये जाते हैं। इसी तारतम्य में नगरपालिका परिषद बालाघाट में बुधवार को ‘‘खेल दिवस’’ के अवसर पर जिले भर की खेल प्रतिभाओं, खेल प्रषिक्षकों, पूर्व खिलाड़ियों तथा विभिन्न खेल संगठनों के पदाधिकारियों को सम्मानित किया गया।
कार्यक्रम जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती रेखा बिसेन के मुख्य आतिथ्य में सम्पन्न हुआ। कार्यक्रम की अध्यक्षता नगरपालिका अध्यक्ष श्री अनिल धुवारे ने की। वहीं विषेष अतिथी के रूप में भाजपा जिला अध्यक्ष श्री रमेष रंगलानी, भाजपा प्रदेष कार्यकारिणी सदस्य श्रीमती मौसम हरिनखेड़े, भाजपा नेता श्री राजेष पाठक, नेहरू स्पोर्टिंग क्लब के पूर्व अध्यक्ष श्री ज्ञानचंद बाफना, श्री रिषभदास जी वैद्य, श्री अषोक मोदी, श्री प्रेमचंद जी वैद्य, श्री रमेष त्रिवेदी, हाॅकी संघ के प्रदेष महासचिव श्री विजय वर्मा, सचिव श्री मकरंद अंधारे, भाजपा नेता श्री संजय मिश्रा, पार्षद श्रीमती सरिता केवल सोनेकर, श्रीमती भूमेष्वरी तिवड़े, श्री ललित चैके, श्री मनोज अहिरकर, शफकत खान,  श्री संतोष जैसवाल, श्री रामभाऊ पंचेष्वर, श्री राजेष मढ़के, श्री अनिल कसार, श्री महेंद्र रामटेक्कर, हिरालाल नागोसे, राजकुमार शांडिल्य, राजेष सेवईवार, वामन उके, गोपाल धुर्वे, नरेंद्र परिहार , ब्रजेष मिश्रा, श्रीमती शषि आर गिरी, श्रीमती अमिता तुरकर, श्रीमती कंचन महाजन, चित्रा ठाकुर, सहित अनेक गणमान्य नागरिक तथा खेल प्रेमी उपस्थित रहे। कार्यक्रम के अवसर पर मुख्य नगरपालिका अधिकारी श्री गजानन नाफड़े, कार्यालय अधीक्षक श्री बी.एल.लिल्हारे, सहायक यंत्री श्री अभिषेक षिवहरे, उपयंत्री श्री सुरेंद्र राहंगडाले, सहित नगरपालिका के समस्त अधिकारी कर्मचारी उपस्थित रहे।
बालाघाट से अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर चमके खेल प्रतिभायेंः-
‘‘खेल दिवस’’ के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुये नगरपालिका अध्यक्ष एवं नेहरू स्पोर्टिंग क्लब के अध्यक्ष श्री अनिल धुवारे ने कहा कि हम चाहते थे कि एक ऐसा आयोजन किया जाये जिसमें हम जितने भी खिलाड़ी जिन्होंने किसी न किसी खेल में अपने जिले और नगर का नाम रौषन किया है ऐसे पूर्व तथा वर्तमान खिलाड़ियों को एक मंच पर सम्मानित किया जाये। हमने गत अनेक वर्षों की जानकारी एकत्र कर लगभग 20 से 25 वर्ष पूर्व तक के खिलाड़ियों को सम्मानित करने का आज यहां प्रयास किया है। साथ ही आगे भी इस प्रकार के कार्यक्रम हम आयोजित करते रहेगें। पूर्व खिलाड़ियों को सम्मानित करने के पीछे हमारा उद्देष्य उनके उस लगन और जज़्बे को नमन करने का है जिसमें उन्होंने विपरित परिस्थितियों में भी खेल के प्रति अपना प्रेम और ललक को जीवित रखा और नगर और जिले का नाम रौषन किया । उन्होंने कहा कि आज से 20-25 वर्ष पहले माता-पिता खेल के प्रति उतने जागरूक नहीं थे और उस समय बच्चों के लिए परिस्थितियां इतनी अनूकूल नहीं थी। बावजूद इसके वे खेले और अपना उत्कृष्ट प्रदर्षन भी किया। उन्होंने कहा कि हम चाहते हैं कि अपने वरिष्ठों से सीख लेते हुये हमारे खिलाड़ी अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर चमके। जैसा कि शैला चाल्र्स, निधी नन्हेट और अन्य खिलाड़ियों ने प्रदर्षन किया है।
इस अवसर पर कार्यक्रम को संबोधित करते हुये प्रदेष हाॅकी संघ के महासचिव श्री विजय वर्मा ने हाॅकी के जादूगर कहे जाने वाले महान हाॅकी खिलाड़ी स्व मेजर ध्यानचंद के जीवन परिचय से उपस्थितजनों को परिचित कराया उन्होंने बतया कि किस तरह से एक बार नहीं बल्कि तीन बार विष्व पटल पर मेजर ध्यानचंद ने भारतीय हाॅकी का परचम लहराया। अपने उत्कृष्ट खेल प्रदर्षन के बल पर ही उन्हें हाॅकी के जादूगर के नाम से जाना जाने लगा। वहीं उन्होंने बालाघाट में हाॅकी को जीवित रखने वाली संस्था तथा राष्ट्रीय स्तर पर प्रतिवर्ष अखिल भारतीय हाॅकी टूर्नामेंट आयोजित करने वाली संस्था नेहरू स्पोर्टिंग क्लब के गौरवषाली इतिहास के बारे में भी जानकारी दी।
वहीं इस अवसर पर नेहरू स्पोर्टिंग क्लब के पूर्व अध्यक्ष श्री ज्ञानचंद बाफना ने कहा कि आज हम देख रहे हैं कि बच्चे आउटडोर गेम की तरफ कम और मोबाइल आदि डिवाइस पर ज्यादा अपना समय गवा रहे हैं। यह उनके सेहत के लिए निहायत की खतरनाक साबित हो सकता है। उन्होंने कहा कि नगर में हाॅकी के साथ-साथ अनेक खेलों का गौरवमय इतिहास रहा है। हमें इसे बचाये रखने की आवष्यकता है। साथ उन्होंने खेल के मैदानों में अन्य आयोजनों को प्रतिबंधित करने की आवष्यकता पर भी बल दिया।
वहीं कार्यक्रम को संबोधित करते हुये भाजपा प्रदेष कार्यकारिणी सदस्य, जिला बाॅस्केटबाॅल संघ की अध्यक्ष एवं जिला महिला कराते संघ की अध्यक्ष श्रीमती मौसम हरिनखेड़े ने कहा कि बालाघाट जिला अपनी उत्कृष्ट खेल प्रतिभाओं, और षिक्षा के क्षेत्र में उच्च कीर्तीमान स्थापना के लिए जाना जाता है। उन्होने कहा कि मध्यप्रदेष शासन द्वारा खेल बजट अब 400 करोड़ रूपये कर दिये गये है जो पूर्व की सरकारों में महज 4 करोड़ रूपये हुआ करता था। और इसी का परिणाम है कि हमारे खिलाड़ी बेहतर से बेहतर प्रदर्षन कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि हमारे महाकौषल क्षेत्र से जबलपुर की मुस्कान किरार नामक खिलाड़ी द्वारा एषियाई खेलों में तीरअंदाजी में उत्कृष्ट प्रदर्षन कर रजत पदक हासिल कर अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाया।
वहीं भाजपा जिला अध्यक्ष श्री रमेष रंगलानी ने खेल के महत्व को समझाते हुये स्वामी विवेकानंद एवं उनके गुरू के बीच की एक घटना का जिक्र करते हुये बताया कि किस तरह वेदों के ज्ञान से पहले उनके गुरू द्वारा उन्हें 6 माह तक फुटबाल खेलने के लिए कहा गया। स्वामी विवेकानंद ने गुरू की आज्ञा का पालन किया और वेदों के ज्ञान प्राप्त करने के बाद उन्होंने गुरू से कहा कि पहले आपने फुटबाॅल खेलने क्यों कहा- गुरू का उत्तर था कि खेल से मनुष्य के ज्ञान चक्षु खुल जाते हैं और वह और भी बेहतर समझ के साथ आगे बढ़ता है। इस अवसर पर श्री रंगलानी ने नगरपालिका परिषद बालाघाट तथा नेहरू स्पोर्टिंग क्लब के प्रयासों की प्रषंसा करते हुये कहा कि नगर में ऐसे आयोजन होते रहना चाहिए जिससे लोगों को और अधिक अच्छा करने की प्रेरणा मिल सके।



 

Consumer Desk


Map