News Desk

News 15 Sep 2018

नपा द्वारा हनुमान चैक में नाला निर्माण का भूमिपूजन सम्पन्न


बालाघाटः- नगरपालिका परिशद बालाघाट द्वारा षनिवार को नगर के हृदय स्थल हनुमान चैक दुर्गा मंदिर चैक से स्टेषन रोड मानू यादव के मकान तक लगभग 17, लाख 18 हजार रूपये की लागत से 500 मीटर नाला निर्माण हेतु भूमिपूजन किया गया। कार्यक्रम भाजपा प्रदेष कार्यकारिणी सदस्य श्रीमती मौसम हरिनखेेड़े के मुख्य आतिथ्य में संपन्न हुआ। वहीं कार्यक्रम की अध्यक्षता नगरपालिका अध्यक्ष श्री अनिल धुवारे ने की। इस अवसर पर विषेश अतिथी के रूप में नगरपालिका उपाध्यक्ष श्रीमती वीणा कनौजिया, समाजसेवी श्री मोहन जैरानी, पार्शद श्रीमती सरिता केवल सोनेकर,वार्ड की पार्शद श्रीमती लक्ष्मी विनय जायसवाल, श्री अनिल सिहं ठाकुर बब्बा, श्री ललित चैके, श्रीमती मंजू बोरकर, श्री राहुल मलेवार, उपयंत्री श्री अभिलाश श्रीवास सहित अनेक गणमान्य नागरिक उपस्थित रहे।
मंत्री बिसेन ने किया ढीमर मछुआ समाज के सामुदायिक भवन निर्माण हेतु भूमिपूजन
बालाघाटः- षनिवार को नगरीय क्षेत्र बालाघाट अंतर्गत वार्ड क्रमांक 01 के ढीमरटोला में मछुआ ढीमर समाज के सामुदायिक भवन के निर्माण हेतु मध्यप्रदेष षासन के किसान कल्याण एवं कृशि विकास मंत्री श्री गौरीषंकर बिसेन द्वारा भूमिपूजन किया गया।
इस अवसर पर नगरपालिका अध्यक्ष श्री अनिल धुवारे, भाजपा प्रदेष कार्यकारिणी सदस्य श्रीमती मौसम हरिनखेड़े, नगरपालिका उपाध्यक्ष श्रीमती वीणा कनौजिया, समाजसेवी श्री मोहन जैरानी, भाजपा युवा मोर्चा जिला अध्यक्ष श्री गजेंद्र भारद्वाज, पार्शद श्री यासिन खान, श्री रामलाल बिसेन, श्रीमती गौरी राजेष लिल्हारे, श्रीमती सरिता केवल सोनेकर, पूर्व नगर पालिका उपाध्यक्ष श्री अनिल सोनी, श्री छोटू दवने, श्री अनिल सिहं ठाकुर बब्बा,  श्री मांझी मछुआ समाज के प्रदेष अध्यक्ष श्री ईष्वर दयाल जी उके, श्री करनलाल दूधबुरे सहित मांझी मछुआ समाज के अनेक पदाधिकारी उपस्थित रहे।
इस अवसर पर नगरपालिका अध्यक्ष श्री अनिल धुवारे ने बताया कि नगरपालिका परिशद बालाघाट द्वारा मांझी मछुआ समाज को सामुदायिक भवन के निर्माण हेतु 6000 वर्गफीट भूमि दी जा रही है। साथ ही हमारे क्षेत्र के लाडले विधायक श्री गौरीषंकर बिसेन जी के कर कमलों द्वारा यहां बहुत जल्द ही भवन के लोकार्पण भी किया जायेगा।
वहीं कार्यक्रम के मुख्य अतिथी मंत्री श्री गौरीषंकर बिसेन ने कहा कि हमारी सरकार ने हर वर्ग का पूरा ख्याल रखा है और इसी बात का यह सबसे बड़ा उदाहरण है कि आज हम समाज के अंतिम छोर पर बैठे हमारे मांझी मछुआ समाज के लोगों के सामुदायिक भवन के निर्माण के लिए हम एकत्रित हुये हैं। उन्होंने कहा कि सरकार के पास विषेश पिछड़े जाति एवं जनजातिय वर्गों के सामुदायिक भवनों के निर्माण हेतु सहायता राषि उपलब्ध कराने का प्रावधान होता है। और हम भी इस बात का पूरा ध्यान रखेंगें कि अच्छे से अच्छा भवन हम यहां के लोगों को बनाकर दें।
उन्होंने कहा कि जब इस क्षेत्र में लोग बसे थे यह इस षहर की पहली बसावट थी यहां सभी प्रकार की सुविधाओं का अभाव था लेकिन अब यहां बने पक्के मकान और पक्की सड़कें गंदे पानी की निकासी के लिए बनी नालियां इसके विकास की गाथा को कहता है।

Consumer Desk


Map